Comments Off on 33 से 42 साल की ये भारतीय खिलाड़ी अचानक चर्चा में, गुमनाम खेल में पदक किया पक्का; 40 मेडल जीत चुकी टीम को हरा अब गोल्ड की रेस में 3

33 से 42 साल की ये भारतीय खिलाड़ी अचानक चर्चा में, गुमनाम खेल में पदक किया पक्का; 40 मेडल जीत चुकी टीम को हरा अब गोल्ड की रेस में

खेल

ब्रिटेन के बर्मिघम में चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में सोमवार को भारत को एक ऐसे खेल में मेडल पक्का हुआ, जिसके बारे बहुत कम लोग जानते होंगे। बात लॉन बॉल्स की हो रही है। खेल में भारतीय महिला टीम ने सेमीफाइनल में 40 मेडल जीत चुकी टीम को हराकर बड़ा उलटफेर किया और अचनाक चर्चा में आ गईं। टीम में शामिल महिलाओं की उम्र 33 से 42 साल है। इनकी औसत उम्र 37 साल है।
लॉन बॉल्स में भारतीय महिला टीम ने फोर्स स्पर्धा (चार खिलाड़ियों की टीम) के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड को 16-13 से हराकर राष्ट्रमंडल खेलों में इतिहास रचते हुए अपना पहला पदक पक्का किया। भारतीय टीम पहली बार खेलों में महिला फोर्स प्रारूप के फाइनल में पहुंची है। लवली चौबे (लीड), पिंकी (सेकेंड), नयनमोनी सेकिया (थर्ड) और रूपा रानी टिर्की (स्किप) की फोर्स टीम मंगलवार को स्वर्ण पदक के मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका से भिड़ेगी।
0-5 से पिछड़ने के बाद भारतीय टीम ने जोरदार वापसी की
सेलिना गोडार्ड (लीड), निकोल टूमी (सेकेंड), टेल ब्रूस (थर्ड) और वेल स्मिथ (स्किप) की न्यूजीलैंड की टीम के खिलाफ दूसरे चरण के बाद 0-5 से पिछड़ने के बाद भारतीय टीम ने जोरदार वापसी की। नौवें चरण के बाद दोनों टीम 7-7 से बराबरी थी, जबकि 10वें चरण के बाद भारत ने 10-7 की बढ़त बना ली। इस करीबी मुकाबले में न्यूजीलैंड की टीम 14वें चरण के बाद 13-12 की मामूली बढ़त बनाने में सफल रही। इसके बाद भारत ने रूपा रानी के बेहतरीन शॉट से 16-13 के स्कोर से मुकाबला जीत लिया।
क्या है खेल का नियम
लॉन बॉल्स 1930 से ही कॉमनवेल्थ गेम्स का हिस्सा है। ये खेल ऐसी गेंद से खेला जाता है, जो किनारे से चपटी होती है। खिलाड़ी गेंद को मैदान पर रोल करते हैं। इस खेल जैक शब्द का इस्तेमाल किया जाता। सरल भाषा में समझे तो वह जगह जहां गेंद को पहुंचाना होता है। इसकी लंबाई 23 मीटर होती है। खेल में सिंगल्स, डबल्स, तीन खिलाड़ियों की टीम और चार खिलाड़ियों की टीम का मुकाबला होता है। खिलाड़ियों को जैक के करीब पहुंचना होता है। सिंगल्स में 21 नंबर हासिल करने पर जीत होती है। डबल्स और अन्य गेम में 18 नंबर हासिल करने होते हैं।
भारत के नाम हुए अबतक छह पदक
कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत ने तीन गोल्ड और दो सिल्वर समेत छह मेडल हासिल कर लिए हैं। सभी मेडल वेटलिफ्टिंग में आए हैं। इसके अलावा नॉन बॉल्स और जूडो में भी एक-एक मेडल पक्का हो गया है। टीम इस समय पदक तालिका में छठे नंबर पर है। ऑस्ट्रेलिया शीर्ष पर काबिज है। खेलों की शुरुआत बर्मिंघम में 28 जुलाई से हुई और यह 8 अगस्त तक चलेगा।

Back to Top

Search