Comments Off on विशेष दर्जा बिहार का बाजिव हक,जो मिलना चाहिए-राज्यपाल 1

विशेष दर्जा बिहार का बाजिव हक,जो मिलना चाहिए-राज्यपाल

ताज़ा ख़बर, ताज़ा समाचार, प्रमुख ख़बरें, बड़ी ख़बरें, बिहार

राज्यपाल रामनाथ कोविन्द ने कहा है कि बिहार को विशेष दर्जा का हक दिया जाना जरूरी है। राज्य में तरक्की की रफ्तार को और तेज करने, उद्योगों का जाल बिछाने, रोजगार के अवसर बढ़ाने के साथ ही देश की प्रगति में योगदान देने के लिए यह जरूरी है। विशेष दर्जा बिहार का बाजिव हक है, जो मिलना चाहिए।राज्यपाल शुक्रवार को बिहार विधानमंडल के संयुक्त सत्र को संबोधित कर रहे थे। अपने 20 मिनट के संबोधन में राज्यपाल ने हर क्षेत्र और वर्ग के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे कामों की सराहना की। कहा कि आधुनिक और विकसित बिहार बनाना ही राज्य सरकार का संकल्प है, जिसमें सभी का सहयोग एवं योगदान अपेक्षित है। सरकार न्याय के साथ विकास का नजरिया रखती है, जिसके अनुरूप सभी लोगों, क्षेत्रों और वर्गों का विकास करना है। उन्होंने कहा कि सरकार कानून का राज स्थापित रखने तथा न्याय के साथ विकास के मार्ग पर चलने के लिए संकल्पित है। संगठित अपराध पर कड़ाई से अंकुश लगाया गया है और यही व्यवस्था आगे भी जारी रहेगी।
कोविन्द ने कहा कि बिहार के विकास की यात्रा में चुनौतियां रही हैं, तो संभावनाएं भी। उपलब्धियां भी रही हैं। उन्होंने कहा कि जीरो टालरेन्स की नीति अपनाकर भ्रष्टाचार के विरुद्ध राज्य सरकार की मुहिम जारी रहेगी। ठोस, अनुशासित एवं आधुनिक प्रशासनिक तथा वित्तीय संरचना को स्थापित करते हुए बिहार में विकास एवं प्रगति का मार्ग प्रशस्त हुआ है।शिक्षा में हुए कार्यों का उल्लेख करते हुए कोविन्द ने कहा कि टोलियों में साइकिल चलाकर विद्यालय जाती लड़कियां बिहार के विकास एवं बदलाव की तस्वीर हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कृषि विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। अनाज, दलहन, तिलहन, फल, सब्जी, गन्ना, जूट, मधु, मशरूम, दूध, मांस, अंडा तथा मछली के विकास और इन्द्रधनुषी क्रान्ति के लिए काम किया जा रहा है। राज्य में सड़कों व पुल-पुलियों का जाल बिछाकर सुदूर क्षेत्र से 6 घंटे में राजधानी पहुंचने का लक्ष्य प्राप्त कर अब 5 घंटे पर काम करना है। पर्यटन एवं स्वास्थ्य क्षेत्र में विशिष्ट नीतियां बनाने का कार्य अंतिम चरण में है। राज्य के सभी घरों में शौचालय और सभी गांवों में नाली की व्यवस्था की जाएगी। अगले 2 वर्षों में राज्य के बचे हुए सभी टोलों व गांवों का विद्युतीकरण होगा।
कोविन्द ने कहा कि बिहार देश के युवा बहुल राज्यों में से एक है। नयी पीढ़ी को शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए सक्षम बनाना राज्य के न्याय के साथ विकास की नीति का एक महत्वपूर्ण लक्ष्य है।राज्यपाल रामनाथ कोविन्द ने कहा कि अभी-अभी हमारे यहां चुनाव सम्पन्न हुए हैं। शांतिपूर्ण व निष्पक्ष चुनाव के लिए बिहार की जनता को बधाई दी जानी चाहिए। विकास के एजेन्डे को स्वीकार करते हुए जिन्होंने अपार बहुमत से सरकार का स्वरूप तय किया है। विश्वास है सरकार इस सकारात्मक वातावरण का लाभ उठाकर बिहार में विकास के नए आयाम स्थापित करेगी। राज्यपाल ने कामना की कि नवगठित बिहार विधानसभा का कार्यकाल राज्य में खुशहाली लाने और विकसित बिहार बनाने में अपनी रचनात्मक भूमिका अदा करेगा।

Back to Top

Search