Comments Off on विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ मांझी समर्थकों ने मोर्चा खोला 9

विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ मांझी समर्थकों ने मोर्चा खोला

ताज़ा ख़बर, ताज़ा समाचार, प्रमुख ख़बरें, बड़ी ख़बरें, बिहार

विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी के खिलाफ मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के समर्थक विधायकों ने मोर्चा खोल दिया है। मंगलवार को ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू और राजीव रंजन ने संवाददाता सम्मेलन कर पूर्व सांसद राजेश कुमार हत्याकांड से जुड़े कागजात प्रदर्शित करते हुए कहा कि चौधरी की संलिप्तता पाए जाने के बावजूद उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। उन्हें गिरफ्तार करना तो दूर, पूछताछ तक नहीं की गई। राज्य सरकार इस मामले की सीबीआइ जांच की अनुशंसा करे।
ज्ञानू ने कहा कि 6 नवंबर 2008 को लोजपा अध्यक्ष रामविलास पासवान ने तत्कालीन प्रधानमंत्री को सीबीआइ जांच के संबंध में पत्र लिखा था। तत्कालीन प्रधानमंत्री ने उस समय बिहार के मुख्यमंत्री रहे नीतीश कुमार को पत्र लिखकर मामले में कार्रवाई को कहा था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। तत्कालीन एसपी परेश सक्सेना ने इस हत्याकांड में अपनी सुपरवीजन रिपोर्ट में चौधरी की संलिप्तता दर्शाई है। राजीव रंजन ने कहा कि नीतीश कुमार भ्रष्ट लोगों से घिरे हैं। उन्होंने कहा कि स्पीकर लगातार असंवैधानिक फैसले ले रहे हैं। संवाददाता सम्मेलन में मौजूद विधायक राजेश्वर राज ने कहा कि चौधरी ने गलत ढंग से नीतीश कुमार को विधानमंडल दल के नेता के रूप में मान्यता दी है। इस मौके पर नीरज कुमार बब्लू एवं राहुल शर्मा भी मौजूद थे।
ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है। इस सिलसिले में मंगलवार शाम निर्दलीय विधायक पवन जायसवाल ने विधानसभा कार्यालय में संकल्प दाखिल किया है।

Back to Top

Search