Comments Off on रोहित ने दोबारा जमाया शतक फिर भी भारत दूसरा वनडे हारा 4

रोहित ने दोबारा जमाया शतक फिर भी भारत दूसरा वनडे हारा

क्रिकेट जगत, खेल, ताज़ा ख़बर, ताज़ा समाचार

रोहित शर्मा के शतक की मदद से भारत ने एक बार फिर विशाल स्कोर बनाया लेकिन गेंदबाज फिर नाकाम रहे और पहले मैच की कहानी हूबहू दोहराते हुए ऑस्ट्रेलिया ने उसे शुक्रवार को दूसरे एक दिवसीय क्रिकेट मैच में सात विकेट से मात देकर पांच मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली। पर्थ में पहले वनडे में 171 रन बनाने वाले सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के लगातार दूसरे शतक की मदद से भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए आठ विकेट पर 308 रन बनाये।
जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने सलामी बल्लेबाज आरोन फिंच (71) और शान मार्श (71) से मिली शानदार शुरुआत के बाद पहले मैच के शतकवीर जार्ज बेली (नाबाद 76) की पारियों के दम पर एक ओवर बाकी रहते सिर्फ तीन विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। बेली ने सिर्फ 58 गेंद में छह चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 76 रन बनाये जबकि ग्लेन मैक्सवेल 26 रन बनाकर नाबाद रहे।
इससे पहले फिंच और मार्श ने ऑस्ट्रेलिया को दमदार शुरुआत देते हुए पहले विकेट की साझेदारी में 145 रन जोड़े। भारत को पहली सफलता के लिये 25वें ओवर तक इंतजार करना पड़ा जब रविंद्र जडेजा ने फिंच को रहाणे के हाथों लपकवाया। फिंच ने 81 गेंदों का सामना करके अपनी पारी में सात चौके और एक छक्का लगाया। मार्श को ईशांत शर्मा ने पवेलियन भेजा जिनका कैच कोहली ने लपका। उन्होंने 84 गेंद में पांच चौकों की मदद से 71 रन बनाये।
पर्थ में शतक बनाने वाले स्मिथ 47 गेंद में 46 रन बनाकर उमेश यादव का शिकार हुए लेकिन इसके बाद बेली और मैक्सवेल ने कोई और विकेट गंवाये बिना टीम को गाबा पर लक्ष्य का पीछा करते हुए सर्वश्रेष्ठ जीत दिलाई। इससे पहले भारत के लिये एक बार फिर रोहित ने शानदार शतक जमाया।
भारतीय टीम ने शिखर धवन (6) का विकेट जल्दी गंवा दिया लेकिन रोहित (124) और विराट कोहली (59) ने दूसरे विकेट के लिये 125 रन की साझेदारी की। कोहली के रन आउट होने से भारत की रनगति बाधित हो गई। कोहली 24वें ओवर में दूसरा रन लेने के लिये दौड़े लेकिन रोहित ने उन्हें वापिस भेजने की कोशिश की। वह दौड़ चुके थे और केन रिचर्ड्सन ने स्क्वेयर लेग से सटीक थ्रो करके उन्हें रन आउट कर दिया।
रोहित ने अजिंक्य रहाणे (89) के साथ तीसरे विकेट के लिये 121 रन की साझेदारी की। पर्थ में पहले वनडे में 171 रन बनाने वाले रोहित ने अपनी 127 गेंद की पारी में 11 चौके और तीन छक्के लगाये। अपना 10वां शतक जमाने वाले रोहित दुर्भाग्यशाली ढंग से रन आउट हुए जब उनके शाट पर गेंद सामने जेम्स फाकनेर की उंगलियों को छूकर स्टम्प से जा लगी। रहाणे ले अपनी 80 गेंद की पारी में छह चौके और एक छक्का लगाया। वह 49वें ओवर में पवेलियन लौटे। ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी दस गेंद में चार विकेट लिये।
बायें हाथ के तेज गेंदबाज फाकनेर को दो विकेट मिले जबकि जोएल पेरिस, जान हेस्टिंग्स और स्काट बोलैंड ने एक एक विकेट हासिल किया। पेरिस ने तीसरे ओवर में धवन को आउट करके भारत को पहली सफलता दिलाई। उनके आउट होने के बाद कोहली क्रीज पर आये जिन्होंने एक बार फिर रोहित के साथ 200 से अधिक रन की साझेदारी की। भारत के 50 रन 11वें ओवर में बने। ग्लेन मैक्सवेल को जल्दी ही गेंद सौंपी गई लेकिन वह कोई फायदा नहीं उठा सके। दोनों बल्लेबाजों ने 50 रन की साझेदारी 57 गेंद में पूरी की।ब्रिस्बेन में खेले गए दूसरे वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को सात विकेट से हराकर पांच मैचों की श्रृंखला में 2-0 से बढत बना ली। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे में नॉटआउट 171 रन की पारी खेलने वाले सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने इस मैच में भी शानदार शतक (124 रन) बनाया लेकिन उनका यह शतक बेकार साबित हुआ।
रोहित ने जो पिछले चार शतक लगाए हैं, उनमें भारत को हार का सामना करना पड़ा है। उन्होंने शुक्रवार को नॉटआउट 124 रन की शानदार पारी खेली लेकिन टीम को सात विकेट से पराजय झेलनी पड़ी।ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे में शतक जमाने वाले इस भारतीय ओपनर ने कहा था कि यह एक शानदार सेंचुरी थी और सीरीज की सकारात्मक शुरुआत करना हमेशा से अहम होता है। विजेता टीम का हिस्सा नहीं होना निराशाजनक है क्योंकि अंत में यही मायने रखता है कि आप कौन सी टीम के सदस्य हैं। अगर आपकी टीम नहीं जीतती है तो यह कोई मायने नहीं रखता है कि आपने कितने रन बनाए हैं।28 वर्षीय रोहित ने कहा था कि व्यक्तिगत तौर पर मेरे लिये यह अहम था कि मैं टीम को अच्छी शुरुआत दूं और लय को बरकरार रखूं। मैंने ऐसा ही किया।
रोहित ने कहा था कि टीम बैठक में हम हमेशा से इस बात को लेकर चर्चा करते हैं कि बल्लेबाज को ज्यादा से ज्यादा समय तक पिच पर टिके रहना चाहिए और रन गति को आगे बढ़ाते रहना चाहिए। एक टिके हुए बल्लेबाज का 50 ओवर के अंत तक खेलना बहुत बड़ा अंतर पैदा करता है।
उन्होंने कहा कि मुझे ऐसा लगता है कि मैं पिछले कुछ समय से ऐसा कर पा रहा हूं। मैं सेंचुरी बना रहा हूं और उसे बेस्ट स्कोर में तब्दील करने की कोशिश कर रहा हूं। सेंचुरी बनाना सिर्फ एक उपलब्धि है लेकिन इसे टीम के नजरिए से भी देखना होगा। मैं टीम के लिए बड़ी सेंचुरी जड़ना चाहता हूं।

Back to Top

Search