Comments Off on बीसीसीआई अध्यक्ष जगमोहन डालमिया का निधन 6

बीसीसीआई अध्यक्ष जगमोहन डालमिया का निधन

कोलकत्ता, क्रिकेट जगत, खेल

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष जगमोहन डालमिया का दिल का दौरा पड़ने के बाद रविवार शाम यहां अस्पताल में निधन हो गया। सीने में दर्द की शिकायत पर उन्हें कुछ दिन पहले अस्पताल में भर्ती कराया गया था।डालमिया (75 बरस) को गुरूवार को शहर के बीएम बिड़ला अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनकी बाद में एंजियोग्राफी भी हुई थी।इस अनुभवी क्रिकेट प्रशासक के निधन की पुष्टि करते हुए अस्पताल के सूत्रों ने बताया, आंतरिक रक्तस्राव और अंगों के काम करना बंद कर देने से डालमिया का निधन हो गया।बंगाल क्रिकेट संघ (कैब) के सूत्रों ने बताया, रविवार शाम छह बजे उनकी हालत बिगड़ गई और इसके तुरंत बाद उन्हें दिल का दौरा पड़ा जिससे वह उबर नहीं पाए।डालमिया पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे और बीसीसीआई के रोजमर्रा के संचालन में सक्रिय रूप से हिस्सा नहीं ले पा रहे थे।
डालमिया ने 10 साल के अंतराल के बाद इस साल मार्च में दूसरी बार बीसीसीआई की कमान संभाली थी जब उन्हें चुनाव में वाकओवर मिल गया था। लेकिन इसके बाद से वह बीमार चल रहे थे और पिछले कुछ हफ्तों में उनकी तबीयत और बिगड़ गई।सूत्रों के अनुसार बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर और आईपीएल अध्यक्ष राजीव शुक्ला कल यहां पहुंचेंगे।पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जगमोहन डालमिया के निधन पर दुख जताया। डालमिया के निधन की खबर मिलते ही ममता बनर्जी कोलकाता के बीएम बिरला अस्पताल के लिए रवाना हो गईं।वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और बीसीसीआई के पूर्व उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने भी जगमोहन डालमिया के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि डालमिया क्रिकेट जगत के भीष्म पितामह थे।मार्च 2015 में बीसीसीआई के प्रमुख का पद संभालने वाले जगमोहन डालमिया कई महीनों से बैठकों और सक्रिय कामकाज से दूर थे। डालमिया की 11 साल बाद बोर्ड के अध्यक्ष के तौर पर वापसी हुई थी।
इससे पहले डालमिया साल 2001 से साल 2004 तक बीसीसीआई के अध्यक्ष रहे। वे 1997 से तीन साल के लिए आईसीसी अध्यक्ष भी रह चुके थे।आईपीएल-6 में हुई कथित सट्टेबाज़ी और स्पॉट फिक्सिंग मामले में मुद्गल समिति की जांच के बाद सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर एन श्रीनिवासन को अध्यक्ष पद छोड़ना पड़ा था इसी वजह से बीसीसीआई को नए चुनाव करवाने पड़े थे।जगमोहन डालमिया कोलकाता में 30 मई 1940 में पैदा हुए थे। डालामिया बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया (बीसीसीआई) के अध्यक्ष भी थे।डालमिया इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल के अध्यक्ष भी रह चुके थे। यही नहीं वो कोलकाता के जाने-माने बिजनेसमैन भी थे। डालमिया कोलकाता की मारवाड़ी परिवार से थे। उन्होंने अपना करियर कॉलेज टीम में बतौर विकेटकीपर शुरू किया था।शुरुआती दिनों में उन्होंने अपने पिता की फर्म एमएल डालमिया एंड कंपनी ज्वाइन की और इसे भारत की नंबर-वन कंस्ट्रक्शन फर्म बना दिया। डालमिया ने 1979 में बीसीसीआई को ज्वाइन किया और 1983 में वो इसके खजांची बन गए। ये वही साल था जब भारत ने क्रिकेट में वर्ल्ड कप जीता था।

Back to Top

Search