Comments Off on बिहार में बारिश के बाद इस साल के रिकॉर्ड स्तर की ओर सभी नदियां, सरकार ने जारी किया अलर्ट 0

बिहार में बारिश के बाद इस साल के रिकॉर्ड स्तर की ओर सभी नदियां, सरकार ने जारी किया अलर्ट

कृषि / पर्यावरण, ताज़ा ख़बर, ताज़ा समाचार, बिहार

नेपाल के तराई वाले इलाकों और उत्तर बिहार में जमकर हो रही बारिश के कारण नदियों के जलस्तर में फिर उफान की आशंका है। इसी के मद्देनजर राज्य सरकार ने अलर्ट जारी किया है। इसमें कहा गया है की सूबे की नदियां फिर से 14 जुलाई के ट्रेंड में आ सकती हैं और इस साल के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच सकती हैं। लिहाजा बेहद सतर्कता की जरुरत है। इंजीनियरों को तटबंधों की लगातार चौकसी करने को कहा गया है।
जल संसाधन विभाग के सचिव संजीव हंस ने कहा कि भारतीय मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार अगले 72 घंटे में लगभग राज्य की सभी प्रमुख नदियां राइजिंग ट्रेंड में रहेंगी, नदियों के कैचमेंट क्षेत्र में बिहार और नेपाल साइड में बारिश होने की संभावना जताई गयी है। 14 जुलाई के आसपास नदियों के जलस्तर की जो स्थिति बनी थी, उसी लेवल पर जलस्तर के पहुंचने की संभावना है। इसे ध्यान में रखते हुए संबंधित जिलों को अलर्ट कर दिया गया है। लोगों को आगाह किया जा रहा है ताकि निचले स्थान में रहने वाले लोग ऊंचे स्थानों पर शिफ्ट हो जायें।
उधर, रविवार देर रात शुरू हुई बारिश के बाद कई नदियों के जलस्तर में तेजी से वृद्धि होने लगी है। पहले से खतरे के निशान से ऊपर बह रही बागमती, गंडक, बूढ़ी गंडक, कमला बलान, अधवारा, महानंदा, खिरोई, कोसी और घाघरा का पानी नए-नए स्थानों पर लाल निशान को पार कर गया है। बागमती सीतामढ़ी के डुब्बाधार में पिछले 24 घंटे में 1.25 मीटर से अधिक बढ़ चुकी है। यही नहीं सोनाखान में इसका जलस्तर 44 सेंटीमीटर जबकि ढेंग में 33 सेंटीमीटर बढ़ा है। कोसी वराह में 1.23 लाख क्यूसेक से बढ़कर 1.70 लाख क्यूसेक पर पहुंच गई जबकि गंडक वाल्मीकिनगर बराज पर 1.94 लाख क्यूसेक से बढ़कर 2.15 लाख क्यूसेक पर पहुंच गया।
कोसी नेपाल के अलावा सहरसा, खगड़िया, भागलपुर में जबकि गंडक गोपालगंज में, बूढ़ी गंडक समस्तीपुर, कमला मधुबनी में, अधवारा सीतामढ़ी में, महानंदा पूर्णिया में, खिरोई दरभंगा में लगातार खतरे के निशान के ऊपर बनी हुई है।

Back to Top

Search