Comments Off on बिखराव की कगार पर महागठबंधन,81 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगा JMM 1

बिखराव की कगार पर महागठबंधन,81 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगा JMM

झारखंड, ताज़ा ख़बर, ताज़ा समाचार

लोकसभा चुनाव में विपक्ष को मिली करारी हार की कसक अभी समाप्त भी नहीं हुई कि महागठबंधन में बिखराव की कहानी शुरू हो गई है. झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) ने हार का ठीकरा अपने सहयोगियों पर फोड़ते हुए विधानसभा चुनाव में सभी 81 सीटों पर उम्मीदवार उतारने की मांग को कार्यकर्ताओं की भावना बताकर अलग होने का संकेत दे दिया है. वहीं,कांग्रेस ने भी बिना देरी किए कहा कि चुनाव में सभी दलों को अपेक्षित सहयोग नहीं मिला. अलग लड़ना है तो लड़ें.
झारखंड में महागठबंधन का क्या होगा? लोकसभा चुनाव के नतीजों से बिखर जाएगा महागठबंधन? जेएमएम ने 81 सीटों पर चुनाव लड़ने की मांग को कार्यकर्ताओं की भावना क्यों बताया? क्या लोकसभा चुनाव में जेएमएम को महागठबंधन का फायदा नहीं मिला? ये कुछ सवाल इसलिए कि जेएमएम के दो दिनों के मंथन में गठबंधन जारी रखने के बजाय सभी 81 सीटों पर उम्मीदवार देने की मांग को कार्यकर्ताओं की भावना बताया गया. दरअसल,जेएमएम के गढ़ संथाल में भी शिबू सोरेन चुनाव हार गए.
ऐसे में विधानसभा चुनाव की रणनीति बनाने बैठे जेएमएम नेताओं ने अपने उम्मीदवारों की हार का ठीकरा सहयोगियों पर फोड़ दिया है. जेएमएम ने 81 सीटों पर उम्मीदवार देने का राग छेड़ा तो कांग्रेस ने भी देरी नहीं की. संयम बरतने और आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति से इतर चुनाव की तैयारी में जुटने का सलाह दे दी. साथ ही ये भी कहा कि अलग लड़ना है तो लड़ें. साथ लड़ना है तो साथ लड़ें. अपने – अपने दल में सहयोगी पार्टियां निर्णय लें. झारखण्ड में कुछ ही महीनों के बाद विधानसभा चुनाव होना है. विधानसभा चुनाव में जाने से पहले सभी दल लोकसभा नतीजों पर मंथन में जुटी है. जेएमएम के मंथन से तो फिलहाल महागठबंधन के टूटने के ही संकेत मिले हैं.

Back to Top

Search