Comments Off on पांच एकड़ से कम जमीन पर किसानों को मुफ्त बिजली 8

पांच एकड़ से कम जमीन पर किसानों को मुफ्त बिजली

कृषि / पर्यावरण, ताज़ा ख़बर, ताज़ा समाचार, प्रमुख ख़बरें, बड़ी ख़बरें, बिहार

प्रदेश में जारी राजनीतिक उठापटक के बावजूद मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने गुरुवार को किसानों को बड़ी सौगात दी है। वेटनेरी कॉलेज मैदान में कृषि विभाग और सीआइआइ द्वारा आयोजित पांच दिवसीय एग्रो बिहार – 2015 राज्यस्तरीय कृषि यांत्रिकीकरण मेला का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच एकड़ से कम जमीन वाले किसानों खेती के लिए मुफ्त में बिजली दी जाएगी। अगर आगे मौका मिला तो लाभ के दायरा को बढ़ाकर दस एकड़ तक कर सकते हैं। एससी- एसटी वर्ग के किसानों को कृषि यंत्र खरदीने पर अस्सी फीसद सब्सिडी दी जाएगी।
उन्होंने कहा कि हर जगह बिचौलिए हैं, सरकार में भी हैं। इससे सतर्क रहने की जरूरत है। किसानों को सब्सिडी का लाभ पहुंचे इसकी सुनिश्चित व्यवस्था की जाए। सब्सिडी का पैसा सीधे किसानों के खाते में भेजने की व्यवस्था की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार कृषि को नया आयाम देने में लगी है। औसत आय और रोजगार देने में भी कृषि की अहम भूमिका है। बढ़ती आबादी के कारण कृषि के क्षेत्र में लगातार चुनौतियां बढ़ती जा रही हैं। आधुनिक तकनीक के माध्यम से ही पैदावार को बढ़ाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि किसान सिर्फ पैदावार की वृद्धि पर ही ध्यान नहीं दें बल्कि अनाज की गुणवक्ता पर भी ध्यान दें, क्योंकि खेती में रासायनिक खाद और कीटनाशक दवाओं का इस्तेमाल करने से खाद्य पदार्थ विषाक्त होते जा रहे हैं। गाय का दूध भी शुद्ध नहीं मिल रहा है। इसलिए किसान रासायनिक तथा कीटनाशक दवाओं के प्रयोग से बचें और अधिक से अधिक औषधीय पौधों की खेती करें। कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह ने कहा कि बिहार के किसानों में पूरी दुनिया को भोजन उपलब्ध कराने की क्षमता है। मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के नेतृत्व में कृषि के क्षेत्र में प्रदेश लगातार प्रगति कर रहा है, जो कुछ लोगों को रास नहीं आ रहा है। मुख्यमंत्री की कुर्सी पर आसीन दलित के बेटा के साथ अन्याय किया जा रहा है। अन्याय करने वाले सामंती लोग हैं। इन लेगों को जनता सबक सिखाएगी। इस मौके पर कृषि उत्पादन आयुक्त विजय प्रकाश, कृषि मंत्रालय के अपर आयुक्त भीएन काले, कृषि निदेशक धर्मेन्द्र सिंह, उद्यान निदेशक अरविन्द सिंह, सीआइआइ के अध्यक्ष एस पी सिन्हा, उपाध्यक्ष पीके सिन्हा, सौगात मुखर्जी आदि उपस्थित थे।

Back to Top

Search