Comments Off on नीतीश को बिहार की चिंता तो मुझे समर्थन दें-विपक्ष के राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा 0

नीतीश को बिहार की चिंता तो मुझे समर्थन दें-विपक्ष के राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा

आमने सामने, चुनाव, ताज़ा ख़बर, ताज़ा समाचार, बिहार

राष्ट्रपति पद के विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा अपने लिए समर्थन जुटाने शुक्रवार को एक दिन की यात्रा पर पटना पहुंचे। यहां उन्होंने कहा यदि नीतीश कुमार बिहार के हितैषी हैं और उन्हें इस राज्य की चिंता है तो उन्हें मेरा समर्थन करना चाहिए। यशवंत सिन्हा ने कहा आज देश की लोकशाही खतरे में है। देश में राष्ट्रपति यदि रबर स्टांप बन जाए तो यह उचित नहीं होगा। पटना पहुंचने पर एयरपोर्ट पर विपक्ष के नेताओं ने उनका स्वागत किया। अपनी यात्रा में उन्होंने राजद, कांग्रेस, वाम दलों के नेताओं से मुलाकात कर अपने लिए समर्थन मांगा। देर शाम वे महागठबंधन की ओर से आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में शामिल हुए। इस कांफ्रेंस में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के साथ तृणमूल कांग्रेस के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा, वाम दल और कांग्रेस के नेता भी उपस्थित थे।
नीतीश कुमार से भी मांगा समर्थन
यशवंत सिन्हा ने कहा राष्ट्रपति पद का यह चुनाव बेहद महत्वपूर्ण है। इसलिए वे सबसे अपने लिए समर्थन मांग रहे हैं। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार यदि बिहार के हितैषी हैं और उन्हें बिहार की वास्तव में चिंता है तो उन्हें मुझे अपना समर्थन देना चाहिए। मेरे लिए यह गर्व की बात होगी।
संसद को बना रही पंगु
यशवंत सिन्हा ने कहा कि आज केंद्र की सरकार कई तरह से संसद को पंगु बना रही है। आज प्रजातंत्र खतरे में नहीं बल्कि समाप्त हो गया है। लोकतांत्रिक व्यवस्था में सरकार कोई फैसला लेने के पहले सहमति लेती है परंतु इस सरकार में ऐसा नहीं होता।
चुनाव में लाठी की भाषा नहीं
राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार ने कहा राष्ट्रपति यदि रबर स्टांप हो जाए तो लोकतंत्र के लिए अच्छा नहीं। राष्ट्रपति ऐसा होना चाहिए जो प्रधानमंत्री से सवाल कर सके। चुनाव में लाठी की भाषा नहीं चलेगी। उन्होंने कहा मेरी सभी विधायकों से अपील है वे अपनी अंतरात्मा की आवाज पर उन्हें अपना वोट दें। यदि वे राष्ट्रपति चुने जाते हैं तो राजेंद्र प्रसाद के 60 वर्ष बाद वह वैसे व्यक्ति होंगे जो बिहार से राष्ट्रपति चुना जाएगा।

Back to Top

Search