Comments Off on झारखंड में जेडीयू को झटका,प्रदेश अध्यक्ष जलेश्वर महतो ने थामा कांग्रेस का हाथ 2

झारखंड में जेडीयू को झटका,प्रदेश अध्यक्ष जलेश्वर महतो ने थामा कांग्रेस का हाथ

चुनाव, झारखंड, ताज़ा ख़बर, ताज़ा समाचार, प्रमुख ख़बरें, बड़ी ख़बरें, लोक सभा

लोकसभा चुनाव नजदीक है ऐसे में नेता अपने-अपने जुगाड़ में लगे हुए हैं. चुनाव के मद्देनजर दल-बदल की राजनीति तेज हो गई है. वहीं,झारखंड की राजनीति में भी फेरबदल दिख रहा है. हाल ही में जेवीएम नेता ने बीजेपी का दामन थामा था. अब इसके बाद जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष और नीतीश कुमार के करीबी जलेश्वर महतो ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है. जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार के करीबी माने जाने वाले झारखंड में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जलेश्वर महतो कुछ दिनों से एनडीए के खिलाफ बागी तेवर दिखा रहे थे.
लगातार बागी तेवर दिखाने के बाद और तीन राज्यों में कांग्रेस की जीत के बाद उन्हें लगने लगा कि एनडीए में रहकर उनका भविष्य शायद खराब होनेवाला है. ऐसे में उन्होंने जेडीयू पार्टी छोड़ने का फैसला ले लिया. जलेश्वर महतो को अब कांग्रेस और राहुल गांधी के अंदर नई उर्जा दिख रही है. जिसे देख कर उन्होंने कांग्रेस में शामिल होने का फैसला ले लिया. इसी के तहत शनिवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के समक्ष उन्होंने कांग्रेस का दामन थाम लिया है. वहीं, कांग्रेस का कहना है कि जलेश्वर महतो के पार्टी में शामिल होने से पार्टी और मजबूत होगी.
खबरों के मुताबिक,बोकारो के कांग्रेस नेता निर्मल सिंह की मेहनत के बाद जलेश्वर महतो कांग्रेस में शामिल हो गए. राहुल गांधी ने खुद जलेश्वर को पार्टी में शामिल कराया. इस दौरान जलेश्‍वर महतो के साथ कांग्रेस नेता निर्मल सिं‍ह, राजेश ठाकुर, आरपीएन सिंह मौजूद थे. ऐसे में नीतीश कुमार के लिए बड़े झटके के रूप में देखा जा रहा है. जेडीयू झारखंड में वैसे भी मजबूत नहीं दिख रही है. और जलेश्वर महतो झारखंड में जेडीयू के बड़े नेता थे. वह काफी समय से पार्टी में थे. बताया जाता है कि जलेश्वर महतो की नीतीश कुमार के साथ भी काफी नजदीकियां थी.
लेकिन हाल के समय से उन्होंने पार्टी और गठबंधन के खिलाफ तीखा तेवर दिखा रहे थे. हाल ही में उन्होंने बागमारा विधायक ढुल्लू महतो के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था. वहीं,यह भी माना जा रहा है कि जलेश्वर महतो बाघमारा से चुनाव लड़ते हैं. पिछली बार एनडीए से गठबंधन नहीं होने पर चुनाव में ढुल्लू महतो से वह हार गए थे. वहीं,इस बार एनडीए से गठबंधन है तो ऐसे में उनका टिकट बाघमारा कटना तय माना जा रहा है. वहीं,कांग्रेस से उन्हें टिकट मिल सकता है और साथ ही उन्हें लोकसभा चुनाव का भी टिकट झारखंड से दिया जा सकता है.

Back to Top

Search