Comments Off on जात-पात देश के विकास में बाधकः नीतीश 0

जात-पात देश के विकास में बाधकः नीतीश

उत्तर प्रदेश, ताज़ा ख़बर, ताज़ा समाचार, प्रमुख ख़बरें, बिहार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि मुझ पर जात-पात का आरोप लगाया जा रहा है। मैं तो कहता हूं कि देश में तत्काल जात-पात समाप्त हो। विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों का जाति को लेकर उत्पीड़न किया जा रहा है। उनको आत्महत्या के लिए प्रेरित किया जा रहा है। जात-पात देश के विकास में बाधक है। यदि देश से जात-पात समाप्त हो जाए, तो विकास की दौड़ में सबसे आगे होगा।
सम्राट अशोक क्लब द्वारा 20वें स्थापना दिवस पर जमानियां के शाहपुर लटिया गांव में मंगलवार को आयोजित लटिया महोत्सव में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि पूरे देश में असहिष्णुता का दौर आज भी चल रहा है। इसके लिए हमको ध्यान देना चाहिए। कहा कि सम्राट अशोक से जुड़े लोगों ने जब उनकी जन्मतिथि पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने की मांग की, तो उन्होंने कर दी। उसमें भी कुछ लोगों ने राजनीति करनी शुरू कर दी कि उस दिन 14 अप्रैल को बाबा भीमराव अंबेडकर की जयंती है। जबकि सम्राट अशोक की जयंती चैत्र माह की अष्टमी को होती है। वह किसी भी तारीख में पड़ सकती है। बल्कि पूरे देश को सम्राट अशोक की जयंती मनानी चाहिए।
उन्होंने सम्राट अशोक के बताए सिद्धांतों, निष्ठा व अनुशासन को अपने जीवन में उतारने का आह्वान किया। कहा कि भारत के संविधान के प्रति लोगों का विश्वास बढ़ रहा है। अंबेडकर को भी लोग आस्था की दृष्टि से मानते हैं। सम्राट अशोक का जीवन दर्शन ऐसा था कि उन्होंने अपने संदेशों को शिलालेखों पर लिखवाया। उनके शिलालेखों को जानबूझकर नष्ट किया गया। हमको शिलालेखों में जो मिला है, उसको अपनाने का प्रयास करना चाहिए। सम्राट अशोक क्लब की तारीफ करते हुए कहा कि उनका संगठन बहुत अच्छा है। जो भगवान बुद्ध व सम्राट अशोक के विचारों कोघर घर, गांव गांव तक पहुंचाने का संकल्प लिया है।
उन्होंने कहा कि देश में एक ऐसा भी संगठन है, जिसने अपने आपको विश्व का सबसे बड़ा संगठन होने का दावा किया है। जबकि उस संगठन की विचारधार ठीक नहीं है। संगठन बड़ा होने से कुछ नहीं होता है। कहा कि बिहार और खासकर पूर्वी उत्तर प्रदेश तो पहले एक था। बाद में अलग-अलग प्रांत बनने से हम दूर हुए। कहा कि राजनीति में किसी भी प्रकार की आडियोलाजी नहीं चलेगी।
युवा पीढ़ी को सम्राट अशोक के संदेश को घर घर पहुंचाना चाहिए। सम्राट अशोक के विचार, काम, सिद्धांत अनुकरणीय है। अंत में उन्होंने कहा कि वह यहां की धरती को प्रणाम करते हैं। इसके पूर्व राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह ने कहा कि सम्राट अशोक ने एक वेलफेयर स्टेट बनाया था। उनके विचार आज भी प्रांसगिक है। कहा कि आज की विदेश नीति से उनकी विदेश नीति काफी अच्छी थी। उनके विचारों को हम सभी को आत्मसात करना चाहिए। प्रदेश सरकार के पयर्टन मंत्री ओमप्रकाश सिंह ने उनकी हैलीपैड पर अगवानी की। शाम लगभग साढ़े तीन बजे हेलीकाप्टर से पटना लौट गए।

Back to Top

Search