Comments Off on केजरीवाल ने नहीं लिया कोई विभाग, सब पर रखेंगे नजर 10

केजरीवाल ने नहीं लिया कोई विभाग, सब पर रखेंगे नजर

ताज़ा ख़बर, ताज़ा समाचार, दिल्ली, प्रमुख ख़बरें, बड़ी ख़बरें, विधान सभा

रामलीला मैदान में दिल्ली के आठवें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के चंद मिनट बाद ही अरविंद केजरीवाल दिल्ली सचिवालय पहुंच गए और वहां अपना कार्यभार संभाल लिया। सचिवालय में बैठकर कर उन्होंने अपने सभी छह मंत्रियों की जिम्मेदारी तय कर दी। खास बात यह है कि केजरीवाल ने अपने पास कोई विभाग नहीं रखा है।
बैठक के तुरंत बाद अरविंद केजरीवाल अपने निवास के लिए प्रस्थान कर गए। शाम चार बजे आयोजित हुई प्रेसवार्ता में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि आम आदमी पार्टी की सरकार राजनीति में व्यवस्था परिवर्तन के लिए आई है। ऐसे में सरकार के अन्य कामकाज से इतर अरविंद केजरीवाल मंत्रियों व विधायकों के कामकाज पर नजर रखेंगे। वह दिल्ली के लोगों से मिलेंगे। गुड गवर्नेंस टूल का व्यवस्था परिवर्तन के लिए किस तरह इस्तेमाल किया जाए, सरकार के एजेंडे में यह अहम होगा।
इससे पहले, रामलीला मैदान में उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि पिछली बार की कमी को पूरा करते हुए दिल्ली की जनता ने आम आदमी की सरकार को पूर्ण बहुमत दिया। उन्होंने अपने मंत्रियों, विधायकों एवं कार्यकर्ताओं को ‘अहंकार’ से बचने की सलाह देते हुए दिल्ली को देश का पहला भ्रष्टाचार मुक्त राज्य बनाने का वादा किया। केजरीवाल ने कहा कि हम सौभाग्यशाली है कि ऊपर वाले ने हमें आपकी सेवा का मौका दिया। हमें अहंकार से बचना चाहिए।
उन्होंने कहा कि पिछली बार विधानसभा में 28 सीटें मिली थी और पूरे देश में चुनाव लड़ने का सोच लिया। लोकसभा का चुनाव वे अहंकार की वजह से हारें। उन्होंने कहा कि मैं नहीं जानता था कि दिल्ली के लोग उन्हें इतना चाहते हैं। हमें हर धर्म के लोगों ने वोट दिया। हर जाति का वोट हमें मिला।
शपथग्रहण करने के बाद सीएम केजरीवाल रामलीला मैदान से सीधे अपने कार्यालय पहुंचे और उन्होंने अपना कार्यभार संभाला। उस समय उनके साथ मनीष सिसोदिया भी थे। इस बीच उपराज्यपाल नजीब जंग केजरीवाल को शपथ दिलवाते हुए।
केजरीवाल के भाषण के महत्वपूर्ण अंश-
\5 साल दिल्ली में रहूंगा, दिल्ली की सेवा करुंगा।
टोपी पहनकर गुंडागर्दी करने वालों को पुलिसवाले न बख्शें।
49 दिन की सरकार में भ्रष्टाचार खत्म हो गया था।
कोई रिश्वत मांगे तो मना नहीं करना। सेटिंग कर रिकॉर्ड कर लेना।
सरकार पर समय सीमा का दबाव न बनाए मीडिया।
हमारे मंत्री और विधायक 24 घंटे काम करेंगे।
पिछले कुछ समय में दिल्ली में सांप्रदायिकता की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई। इस तरह की सांप्रदायिकता की राजनीति बंद होनी चाहिए।
हम दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर राजधानी को सुरक्षित बनाएंगे, जिसमें सभी धर्म के लोग अपने को सुरक्षित महसूस कर सकें।
पीएम से मिलने गया था। वहां कहा था कि केंद्र से सहयोग चाहते हैं और केंद्र के हर अच्छे कार्य में सहयोग करेंगे।
मैं और आप [मोदी] चाहे तो दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिल जाएगा।
हारी सीटों पर भी बिना भेदभाव के विकास करेंगे।
दिल्ली के व्यापारियों को दिया आश्वासन। कहा कि आज से कोई भी विधायक आपको तंग नहीं करेगा। आप बस पूरा टैक्स भरें।
आपके टैक्स की चोरी नहीं होने दूंगा। इस टैक्स का एक-एक पैसा जनहित में लगेगा। आप दिल खोलकर टैक्स दीजि
दिल्ली सरकार के खजाने में कमी नहीं। नीयत साफ होनी चाहिए।
मुझे सिर्फ 4-5 कमरे चाहिए।
हमें पार्टीबाजी नहीं करनी है।
कोई भी मंञी लालबत्ती नहीं लेगा।
हम किरण बेदी और अजय माकन का भी सहयोग लेते रहेंगे।
हमें सही निर्णय लेने की ताकत दे भगवान।
भारतीय क्रिकेट टीम को दी शुभकामना और कहा कि टीम विश्व कप लेकर लौटेगी।

केजरीवाल के बाद मनीष सिसोदिया ने ली शपथ

अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को यहां रामलीला मैदान में अपार जनसमूह के समक्ष दिल्ली के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली। उन्हें दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग ने शपथ दिलवाई। उनके बाद मनीष सिसोदिया ने शपथ ली। सिसोदिया के बाद अन्य पांच मंञियों ने भी शपथ ली।

केजरीवाल से पहले उनकी पत्नी सुनीता, उनके माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्य रामलीला मैदान पहुंचे। रामलीला मैदान आप समर्थकों से भरा हुआ था। केजरीवाल ने शपथग्रहण समारोह के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी आमंत्रित किया था, परंतु वे अपने पहले से तय कार्यक्रम के अनुसार इस समय महाराष्ट्र में हैं।केजरीवाल की तबीयत खराब होने की वजह से शाम साढ़े चार बजे होने वाली नवनिर्वाचित सरकार की पहली कैबिनेट बैठक को टाल दिया गया है।

Back to Top

Search