Comments Off on एसपी सलविंदर सिंह के खिलाफ सबूत नहीं 0

एसपी सलविंदर सिंह के खिलाफ सबूत नहीं

ताज़ा ख़बर, ताज़ा समाचार, दिल्ली, प्रमुख ख़बरें, बड़ी ख़बरें

पठानकोट हमले के बाद शक के घेरे में आए गुरदासपुर के पूर्व पुलिस अधीक्षक सलविंदर सिंह को एनआईए ने संदेह मुक्त कर दिया है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी के सूत्रों ने शनिवार को कहा कि सलविंदर के खिलाफ लाई डिटेक्टर एवं अन्य परीक्षण में कुछ भी प्रतिकूल नहीं मिला है।आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सलविंदर से करीब 15 दिनों से एनआईए मुख्यालय में पूछताछ चल रही इै। इसके अलावा कई वैज्ञानिक परीक्षण भी किए गए। उनके गुरदासपुर और अमृतसर स्थित आवासों की भी तलाशी ली गई। लेकिन इस दौरान न तो उनके खिलाफ कोई सुराग मिला है और न ही कोई आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद किए गए हैं। गौरतलब है कि पठानकोट एयरबेस हमले को अंजाम देने वाले आतंकियों ने 31 दिसंबर की रात को सलविंदर का अपहरण कर लिया था। सलविंदर ने बताया कि आतंकियों को पता नहीं था कि वह पुलिस अधिकारी हैं। इसलिए उन्होंने उन्हें और उनके रसोइए को छोड़ दिया था। वहीं उनके मित्र राजेश वर्मा को बाद में गला रेतकर फेंक दिया था। इसके बाद इससे संदेह बढ़ गया था।
गणतंत्र दिवस समारोह से पहले बीएसएफ ने सीमा पर जवानों की संख्या बढ़ा दी है और सामरिक अभियान चलाया है। इसका मकसद पाकिस्तान की ओर से संभावित घुसपैठ को रोकना है। बीएसएफ के डीआईजी (पंजाब फ्रंटियर) आर एस कटारिया ने कहा, कोहरे के मौसम में तस्करों और राष्ट्र विरोधी ताकतों की घुसपैठ रोकने के लिए सामरिक अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बीएसएफ के महानिरीक्षक (पंजाब फ्रंटियर) अनिल पालीवाल ने सभी सेक्टरों के लिए दिशादिर्नेश जारी किया है जिसमें सीमा पर जवानों की संख्या बढ़ाई जानी है।
लुधियाना के शेरपुर में सेना की छावनी के निकट शनिवार को तीन लोगों को संदिग्ध स्थिति में घूमते देखा गया। पंजाब पुलिस और सेना ने इनका पता लगाने के लिए साझा अभियान शुरू कर दिया है। पुलिस ने कहा कि शनिवार की सुबह सीसीटीवी कैमरों में अज्ञात लोगों की तस्वीरें कैद हुई हैं। इन तीनों की तस्वीरें स्पष्ट नहीं हैं, हालांकि इसमें दिख रहा है कि एक व्यक्ति बैग लिए हुए है। लुधियाना के पुलिस आयुक्त परमराज सिंह उमरांगल ने संदिग्धों के देखे जाने की पुष्टि की है।
उत्तरी कश्मीर के बारामूला जिले में हरकत उल मुजाहिदीन के एक आतंकी और उसके चार अन्य सहयोगियों को गिरफ्तार किया गया है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने शनिवार को बताया कि खुफिया जानकारी के आधार पर गणतंत्र दिवस समारोह से पहले आतंकी इश्फाक अहमद सोफी और उसके चार अन्य स्थानीय साथियों को गिरफ्तार किया गया। उसके पास पिस्तौल, हथगोले और भारी मात्रा में हथियार जब्त किए गए हैं।

Back to Top

Search