Comments Off on आखिरी तारीख के बाद पुराने 500-1000 के नोट रखना हो सकता है अपराध, लगेगा रकम का पांच गुणा तक जुर्माना 12

आखिरी तारीख के बाद पुराने 500-1000 के नोट रखना हो सकता है अपराध, लगेगा रकम का पांच गुणा तक जुर्माना

दिल्ली, प्रमुख ख़बरें, मुम्बई

केंद्र सरकार द्वारा पिछले महीने बंद किये गये 500 और 1000 के नोटों को पास में रखना भी अब अपराध बन सकता है. इसके लिए आप पर 50000 रूपये या पास में रखे पुराने नोटों के रकम का पांच गुणा तक जुर्माना लग सकता है.
एक निजी चैनल की रिपोर्ट के अनुसार केंद्र सरकार इस संबंध में एक नया अध्यादेश जारी करने पर विचार कर रही है. रिज़र्व बैंक के डायरेक्टर्स की सलाह पर इसका प्रारूप भी तैयार कर लिया गया है जिसे बुधवार को होने वाली केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में मंजूरी दी जा सकती है. इसके अंतर्गत 30 दिसंबर जो कि पुराने 500-1000 के नोटों को बैंक खातों में जमा कराने की आखिरी तारीख है, के बाद एक लिमिट से ज्यादा इन नोटों को पास में रखने या दूसरे को ट्रांसफर करने पर कानूनी कार्रवाई की जा सकती है.
रिपोर्ट में कहा गया है कि जनवरी से कोई भी व्यक्ति पुराने 500 या 1000 के 10 से ज्यादा नोट अपने पास नहीं रख सकता. इसका मतलब पूर्व निर्धारित नियम के अनुसार अब जनवरी से ज्यादा से ज्यादा 10000 रूपये ही रिज़र्व बैंक में जमा कराये जा सकते हैं. इससे ज्यादा की रकम पाये जाने पर 50000 रूपये तक का फाइन देना पड़ सकता है. फाइन से जुड़े मामलों पर म्‍यूनिसिपल मजिस्‍ट्रेट स्‍तर का अधिकारी निर्णय करेगा.
इस नए अध्यादेश के माध्यम से केंद्र सरकार खुद को और रिज़र्व बैंक को उस देनदारी से मुक्त कर लेगी जिसका वचन इन नोटों के धारक को रिज़र्व बैंक के गवर्नर के हस्ताक्षर के साथ दिया जाता है. इसके बाद ये नोट कानूनी रूप से अमान्य हो जाएंगे. साल 1978 में भी इसी तरह का अध्यादेश जारी कर तत्कालीन केंद्र सरकार ने 1000, 5000 और 10000 के नोटों को कानूनी रूप से अमान्य घोषित करते हुए खुद की देनदारी को समाप्त कर दिया था.
बता दें कि दिसंबर माह तक ही पुराने नोटों को बैंकों में जमा करने की इजाजत है. इसके बाद मार्च, 2017 तक पुराने नोटों को रिज़र्व बैंक में जमा कराया जा सकता था.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ब्लैक मनी और करप्शन पर रोक लगाने के मकसद से बीते माह 8 नवंबर को 500 और 1000 के नोटों को बैन कर दिया गया था. रिज़र्व बैंक के अनुसार नोटबंदी के वक़्त बाजार में इन नोटों की कुल रकम 15.5 लाख करोड़ थी. रिज़र्व बैंक के ही ताजा आंकड़ों के मुताबिक अबतक इनमें से 13 लाख करोड़ से ज्यादा की रकम बैंकों के पास वापस आ चुकी है.

Back to Top

Search